45+ Interesting Facts About Elephant in Hindi | हाथी की रोचक जानकारी

 Elephant in Hindi | Hathi in Hindi


Elephant in Hindi
हाथी 


इस आर्टिकल (45+ Interesting Facts About Elephant in Hindi |  हाथी की रोचक जानकारी) में आपको हाथी के बारे में सारी महत्वपूर्ण जानकारी बताऊंगा|


हाथी जमीन पर पाए जानेवाला कद में सबसे बड़ा जानवर है और इसे पृथ्वी पर पाए जानेवाले सबसे बड़े जानवरों में भी शामिल किया जाता है|


एक सामान्य हाथी का वजन 10 हजार किलो तक होता है और सबसे बड़े हाथी का वजन 30 हजार किलो तक होता है|


यह शाकाहारी जानवर है जो एशिया और अफ्रीका में पाया जाता है|


आज के समय हाथियों की सिर्फ दो ही प्रजातियाँ मौजूद हैं लेकिन कुछ अवशेषों से पता चला है की आज से 5 करोड़ साल पहेले हाथियों की 150 से ज्यादा प्रजातियाँ मौजूद थी|


आज हाथियों की केवल तीन प्रजातियाँ ही मौजूद है - अफ्रीकन बुश एलीफैंट, अफ्रीकन फोरेस्ट एलीफैंट और एशियाई एलीफैंट|


आज लगभग चार लाख अफ्रीकी हाथी और चालीस हजार एशियाई हाथी बचे है|



कुछ समय पहेले एशियाई हाथी सीरिया से लेकर चाइना, कम्बोडिया और सुमात्रा तक फैले हुए थे लेकिन आज यह सिर्फ भारत, भूटान, थाईलैंड, इंडोनेशिया, वियतनाम और सुमात्रा में ही मौजूद हैं|


एशियाई हाथी आज सबसे ज्यादा भारत में ही मौजूद हैं जिनकी संख्या 27 हजार से ज्यादा है|


अफ्रीकी हाथी में नर और मादा दोनों के दांत होते हैं लेकिन एशियाई हाथी में सिर्फ नर के ही दांत होते हैं|


Elephant Information in Hindi


Elephant in Hindi
Elephant


हाथी कभी भी बैठकर नहीं सोते यह हंमेशा खड़े होकर ही सोते हैं|


हाथी अपनी शूंढ की मदद से पानी को 4-5 किमी दूर से ही सूंघ लेता है|


यह प्राणी बहोत कम सोते हैं, एक दिन में ज्यादा से ज्यादा 4-5 घंटा लेकिन यह चलना ज्यादा पसंद करते हैं|


इस दुनिया में यह एकमात्र ऐसा जानवर है जो कूद नहीं सकता|


मादा हाथी हर चार साल में बच्चे को जन्म देती है और इसका गर्भकाल 22 महीनो का होता है| जन्म के समय हाथी के बच्चे का वजन 100 किलो से ज्यादा होता है|


भारतीय हाथी की तुलना में आफ्रीकी हाथी ज्यादा बड़े होते हैं| भारतीय हाथी की लम्बाई 10 फीट होती है और आफ्रीकी हाथी की लम्बाई 13 फीट होती है|


सामान्य तौर पर हाथी 50-70 साल तक जीवित रहेते हैं| अबतक का सबसे ज्यादा आयु वाला हाथी 82 साल तक जीवित रहा था|



Elephant Meaning, Essay, Facts, Age, Species, Food in Hindi


हाथी के दिमाग का वजन 5 किलो से ज्यादा होता है जो जमीन पर मौजूद किसी भी जानवर से बहोत ज्यादा है|


हाथियों के झुंड का नेतृत्व ज्यादातर मादा हाथी ही करती है|


हाथी ज्यादातर 6 KM/H की रफ़्तार से चलते हैं|


हाथी अपने पैर का इस्तेमाल किसी भी तरह की अवाज को सुनने के लिए करते हैं|


यह लम्बे समय तक पानी में तैर सकते हैं|


इस जानवर की त्वचा इतनी संवेदनशील होती है की यह एक मक्खी का बैठना भी महसूस कर सकते हैं|


हाथियों के झुंड में से कोई एक हाथी मर जाए तो सभी हाथी अजीब तरह की अवाज निकालकर शोक मनाते हैं|


एक रिसर्च में पता चला है की हाथियों को मधुमक्खियों से डर लगता है|


एक हाथी एक दिन में 100 किलो से ज्यादा खाना खाता है|


हाथी की सूंढ़ उपरी होठ और नाक से जुडी हुई होती है|


हाथी की सूंढ़ इतनी कमाल की होती है की यह जमीन पर पड़ा हुआ सिक्का भी उठा सकती है|


हाथी भी इंसानों की तरह लेफ्ट या राईट हैंड होते हैं|


पुराने ज़माने में हाथियों का इस्तेमाल युद्ध में किया जाता था|


हाथी एक दुसरे की चिंघाड़ने की आवाज़ को 8 किमी दूर तक सुन सकते हैं|


एक व्यस्क हाथी रोजाना 200 लीटर से ज्यादा पानी पिता है|


हाथी अपनी सूंढ़ से किसी भी वस्तु का आकर और तापमान जान सकता है|


हाथी अपनी सूंढ का इस्तेमाल भोजन या किसी भी चीज को उठाने के लिए करता है और यह अपनी सूंढ़ में पानी भरकर अपने मुह में डालता है|


यह दिन के 16 घंटे तो सिर्फ खाने में ही बिता देते हैं|


हाथी के कान बहोत बड़े होते हैं और इन्ही कान की मदद से हाथी अपने शरीर का तापमान कंट्रोल करते हैं|


अफ्रीकन नर हाथी की हाइट 10.5 फीट और वजन 6 टन होता है और अफ्रीकन मादा हाथी की हाइट 8.5 फीट और वजन 3 टन होता है|


एशियाई नर हाथी की हाइट 9 फीट और वजन 4 टन होता है और एशियाई मादा हाथी की हाइट 7.9 फीट और वजन 2.7 टन होता है|


किंमती दांत, चमड़ी और गोस के हाथियों का शिकार किया जाता है जिसकी वजह से हाथियों की संख्या बहोत कम हो गयी है|


आज हाथियों का इस्तेमाल वजन उठाने और मनोरंजन (सर्कस) के लिए किया जाता है|


हाथी के हमले से कैसे बचे ?

हाथी जब भी किसी पर हमला करे तो उससे बचने के लिए पेड़ पर नहीं चढ़ना चाहिए और नाही किसी जगह छुपना चाहिए क्यूंकि हाथी अपनी मजबूत सूंढ़ से किसी भी पेड़ को उखाड़ सकता है और हाथी की सूंघने की क्षमता भी बहोत तेज होती है जिसकी वजह से वो किसी भी जीव को आसानी से ढूंढ सकता है|


हाथी के हमले से बचने के लिए जोर जोर से चिल्लाना चाहिए और शोर मचाना चाहिए|


शुरुआत में जब ट्रेन आई थी तब ट्रेन को खेंचने और डब्बे उठाने के लिए हाथियों का इस्तेमाल किया जाता था|


यह एक मिनट में दो या तीन बार सांस लेते और छोड़ते हैं|


हाथी के आँखों की रौशनी बहोत कम होती है|


हाथी अपनी सूंढ़ में एकबार में 8-9 लीटर पानी भर सकता है और अपने सूंढ से 300 किलो से ज्यादा वजन उठा सकता है|


हाथी की सूंढ़ में चिति घुस जाए तो वो मर भी सकता है इसी वजह से वह फूंक फूंक कर चलता है|

 

 आपको यह आर्टिकल (Elephant in Hindi) कैसा लगा Comment करके जरूर बताएं|


Previous Post
Next Post
Related Posts