BMW Full Form in Hindi | BMW History in Hindi

 BMW Full Form in Hindi | BMW History in Hindi


BMW Full Form in Hindi-BMW History in Hindi
BMW Full Form in Hindi



आज में आपको BMW Full Form in Hindiऔर BMW की हिस्ट्री बताऊंगा जोबहोत ही रोचक है|

BMW कंपनी अपनी महँगी कार और बाइक की वजह से पूरी दुनिया में मशहूर है|


About BMW in Hindi


नामBMW
FOUNDERKARL FRIEDRICH RAPP
जन्म24 सितम्बर 1882
जन्मस्थलजर्मनी
BMW का इंग्लिश फुल फॉर्मBAVARIAN MOTOR WORKS
BMW का जर्मन फुल फॉर्मBAYERISCHE MOTORENWERKE GMBH


KARL FRIEDRICH RAPP एक मैकेनिकल इंजिनियर थे और इन्होने 1918 में KARL MOTORENWERKE GMBH नाम की एक कंपनी खोली बनायीं थी|


यह कंपनी हवाईजहाज और गाड़ियों के इंजन बनाया करती थी|


इस कंपनी की स्थापना के कुछ सालों बाद पहेला विश्वयुद्ध शुरू हो गया था और इस समय हवाईजहाज के इंजन की मांग बहोत बढ़ गयी थी इसी वजह से KARL ने दूसरी दो कंपनियों के साथ मिलकर एक नयी कंपनी बनायी जिसका नाम BAVARIAN MOTOR WORKS रखा|


BMW logo, BMW Full Form


BMW Full Form in Hindi, BMW History in Hindi


BMW का फुल फॉर्म BAVARIAN MOTOR WORKS है लेकिन यह इसका इंग्लिश फुल फॉर्म है और BMW का जर्मन फुल फॉर्म BAYERISCHE MOTORENWERKE GMBH है|


BMW कंपनी का पहेला प्रोडक्ट BMW 3 A नाम का एक जेट इंजन था और इसकी क्वालिटी बहोत अच्छी थी जिसकी वजह से यह मिलिट्री को बहोत पसंद आ गया था और इसका ऑर्डर भी मिल गया था|


पहेला विश्वयुद्ध ख़तम होने के बाद जेट इंजन की मांग बहोत कम हो गयी थी जिसकी वजह से BMW ने इंजन बनाना बंध कर दिया और बस, ट्रेक्टर के इंजन और खेतों में उपयोग किये जानेवाले पंप बनाने लगे|


1923 में इस कंपनी ने बाइक बनाना भी शुरू कर दिया और इस कंपनी की पहेली बाइक BMW R32 थी|


1928 में इस कंपनी ने औटोमोबिल नाम की एक कंपनी खरीद ली और तब से कार बनाना भी शुरू कर दिया और इस कंपनी की पहेली कार BMW 3/15 थी|


1939 में जब दूसरा विश्वयुद्ध शुरू हुआ तब इस कंपनी ने फिरसे जेट इंजन बनाना शुरू कर दिया लेकिन इस विश्वयुद्ध में इनकी कई फैक्ट्री पर बम गिरे और इनकी कंपनी को कार और बाइक बनाने पर रोक लगा दी गयी|


इस वक़्त इस कंपनी ने साइकिल और किचन का सामान बनाना शुरू कर दिया|


1947 इस कंपनी को एक बार फिर से बाइक बनाने की परमिशन मिल गई और 1951 में कार बनाने की परमिशन भी मिल गयी|


BMW की कार बहोत महँगी होती थी इस वजह से कार कम बिकती थी, कुछ सालों तक ऐसा ही चला और कंपनी को बेचने की नोबत आ गयी थी|


1961 में इस कंपनी की एक कार लोंच हुई जो इस कंपनी को बिकने से बचाने ने में कामयाब हो गयी और फिर धीरे धीरे कुछ और कारें भी लोगों को बहोत पसंद आई और इस कंपनी की कार की डिमांड बढ़ने लगी|


इस कंपनी ने 1994 में ROVER कार कंपनी को ख़रीदा लेकिन यह सौदा BMW को महंगा पड़ गया और ROVER कार कंपनी को FORD को बेच दिया|


1998 में BMW ने ROLLS ROYCE के लोगो और नाम को खरीद लिया|


आज BMW बहोत बड़ी और नामचीन कंपनी है जिसकी कार और बाइक पूरी दुनिया में पसंद की जाती है|


आप लोगों को BMW Full Form in Hindi कैसी लगी Comment करके जरूर बताएं|


Previous Post
Next Post
Related Posts